अगड़ी जाति के लोग विदेशी और आर्यों की संतान: मांझी


12_11_2014-jatanrammअपने बिवादित बयान से हमेशा चर्चा में रहने वाले बिहार के मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी ने एक और बिवादित बयान देकर सबको चौंका दिया है। बेतिया में आयोजित एक सभा को संबोधित करते हुए जीतन ने कहा कि अगड़ी जाति के लोग विदेशी हैं और आर्यों की संतान हैं जो विदेश से यहां आए हैं। मांझी ने कहा कि इस देश के मूल निवासी दलित और आदिवासी वर्ग के लोग हैं। उन्होंने इस वर्ग के लोगों को राजनीतिक स्तर पर जगरुक एवं शीक्षित होने को कहा ताकि समाज का यह पिछड़ा वर्ग बिहार में सरकार बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सके।

मांझी के इस बयान पर राजनीतिक प्रतिक्रियाएं आनी शुरू हो गईं हैं। भाजपा के वरिष्ठ नेता और बिहार के पूर्व उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी ने सीएम की आलोचना करते हुए कहा कि उनके इस बयान से प्रदेश में जाति संघर्ष फैलेगा। उन्होंने कहा कि यह कोई पहला मौका नहीं है जब मांझी ने बेतुका बयान दिया है, ये पहले भी ऐसे बयान देते रहे हैं जिससे कि समाजिक विभाजन हो।

गौरतलब है कि इससे पहले मांझी ने कहा था कि उन्हें एक मंदिर में अपमानित किया गया था जब उनके मंदिर से आने के बाद उसे पवित्र करने के लिए धोया गया। पूर्व उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी ने मांझी के इस बयान पर कहा कि वह सस्ती लोकप्रियता हासिल करने के लिए अपने साथ भेदभाव होने का झूठा आरोप लगाते रहते हैं, इसमें से एक भी आरोप साबित नहीं हुआ है।

Advertisements
%d bloggers like this: