दलित युवक को ‘ज़िंदा जलाया’


बिहार के रोहतास ज़िले में एक दलित युवक को जिंदा जलाने का मामला सामने आया है.

पुलिस ने बताया कि घटना बुधवार दोपहर की है और इसकी वजह खेत में बकरी चरने जैसी मामूली घटना को बताया जा रहा है.

मोहनपुर गांव में घटी इस घटना के बाद 15 साल के साईं राम को अस्पताल ले जाया गया लेकिन वहां उनकी मौत हो गई.

रोहतास ज़िले के पुलिस अधीक्षक चंदन कुशवाहा ने बीबीसी को बताया कि एकमात्र आरोपी संजय सिंह उर्फ़ कुलकुल सिंह को गुरुवार सुबह गिरफ़्तार कर लिया गया है.

पुलिस अधीक्षक के अनुसार 24 घंटे के अंदर चार्जशीट दाखिल कर दी जाएगी.

गुरुवार सुबह रोहतास के जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक ने मृतक के परिवार से मिलकर उन्हें दलित एक्ट के तहत मुआवज़े की तीन लाख राशि का चेक सौंपा.

‘स्पीडी ट्रायल’ के आदेश

मुख्यमंत्री मांझी ने स्पीडी ट्रायल के आदेश दिए हैं

काराकाट थाना से मिली जानकारी के मुताबिक मृतक के पिता जितऊ राम की ओर से दर्ज एफआईआर के अनुसार विवाद खेत में बकरी चरने के कारण शुरू हुआ.

एफआईआर के अनुसार विवाद के बाद अभियुक्त संजय सिंह ने न सिर्फ़ अपने खेत के पास मृतक को बुरी तरह से पीटा बल्कि उसके लिए जातिसूचक गालियों का भी प्रयोग किया.

इसके अनुसार मारपीट के बाद किसी प्रकार जब मृतक बच कर अपने घर पहुंचा तो अभियुक्त ने थोड़ी देर बाद वहां पहुंचकर उस पर किरोसिन तेल डालकर आग लगा दी.

मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी ने जल्द-से-जल्द चार्जशीट दायर कर मामले के स्पीडी ट्रायल के आदेश दिए हैं.

घटना के विरोध में आज भाकपा (माले) के कार्यकर्ताओं ने गोड़ारी बाजार इलाक़े में बरुण-कुरुर सड़क जाम कर प्रदर्शन किया.

Advertisements
%d bloggers like this: